Essay

योग पर निबंध - Yoga essay in hindi

yoga-gec48b7a96_640.jpg

नियमित योग करने वाले लोगों के लिए योग एक बहुत अच्छा अभ्यास है। यह हमें स्वस्थ जीवन शैली और बेहतर जीवन जीने में बहुत मदद करता है। योग वह क्रिया है, जिसके अंतर्गत शरीर के विभिन्न अंगों को एक साथ लाकर शरीर, मन और आत्मा को संतुलित करने का कार्य किया जाता है। पहले के समय में ध्यान के अभ्यास के साथ योग का अभ्यास किया जाता था। योग सांस लेने के व्यायाम और शारीरिक गतिविधियों का एक संयोजन है। योग व्यवस्थित, वैज्ञानिक है और शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों में सुधार करके परिणाम प्राप्त किए जा सकते हैं।

प्रस्तावना

योग हम सभी के जीवन में बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह शरीर और मन के बीच के संबंध में संतुलन बनाने में हमारी बहुत मदद करता है। यह एक प्रकार का व्यायाम है, इसके नियमित अभ्यास से हम शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रह सकते हैं।

योग की कला की उत्पत्ति प्राचीन भारत में हुई थी। पहले के समय में बौद्ध धर्म और हिंदू धर्म से जुड़े लोग योग और ध्यान का अभ्यास करते थे। योग कई प्रकार के होते हैं जैसे- राज योग, जन योग, भक्ति योग, कर्म योग, हस्त योग। आमतौर पर हस्त योग के तहत भारत में कई आसनों का अभ्यास किया जाता है।

अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस - international yoga day

भारत की पहल और सुझाव के बाद 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस या विश्व योग दिवस की घोषणा (संयुक्त राष्ट्र की महासभा में) की गई। योग में विभिन्न प्रकार के प्राणायाम और योगाभ्यास जैसे कपाल-भाति शामिल हैं, जो सबसे प्रभावी साँस लेने के व्यायाम हैं। इनका नियमित रूप से अभ्यास करने से लोगों को सांस संबंधी समस्याओं और हाई व लो ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों में आराम मिलता है। योग ही इलाज है, यदि प्रतिदिन नियमित रूप से इसका अभ्यास किया जाए तो यह धीरे-धीरे रोगों से मुक्ति पाने में बहुत मदद करता है। यह हमारे शरीर में कई सकारात्मक परिवर्तन लाता है और शरीर के अंगों की प्रक्रियाओं को भी नियंत्रित करता है। विशेष प्रकार के योग विभिन्न प्रयोजनों के लिए किए जाते हैं, इसलिए केवल आवश्यक और निर्धारित योगों का ही अभ्यास करना चाहिए।

योग व इसके लाभ - Yoga and its benefits

योग की उत्पत्ति भारत में प्राचीन काल में योगियों द्वारा हुई थी। योग शब्द संस्कृत के शब्द से बना है, जिसके दो अर्थ होते हैं। एक अर्थ जोड़ रहा है और दूसरा अर्थ अनुशासन है। योग का अभ्यास हमें शरीर और मन के मिलन के माध्यम से शरीर और मन का अनुशासन सिखाता है। यह एक आध्यात्मिक अभ्यास है, जो शरीर और मन को संतुलित करने के साथ-साथ प्रकृति के करीब आने के लिए ध्यान के माध्यम से किया जाता है।

पहले के समय में यह हिंदू, बौद्ध और जैन धर्म के लोगों द्वारा किया जाता था। यह व्यायाम का एक अद्भुत रूप है, जो शरीर और मन को नियंत्रित करके जीवन को बेहतर बनाता है। योग हमेशा स्वस्थ जीवन जीने का विज्ञान है। यह एक दवा की तरह है, जो हमारे शरीर के अंगों की कार्यप्रणाली को नियंत्रित कर हमें विभिन्न बीमारियों से बचाने का काम करती है।

आंतरिक शांति - Inner peace

योग हमारे शरीर में शांति बढ़ाने का काम करता है और हमारे सभी तनाव और समस्याओं को दूर करता है। दुनिया भर के लोगों को योग और इसके लाभों के बारे में जागरूक करने के लिए हर साल एक अंतरराष्ट्रीय स्तर का कार्यक्रम (अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस या विश्व योग दिवस) आयोजित किया जाता है। इसका अभ्यास लोग किसी भी उम्र जैसे बचपन, किशोरावस्था, वयस्कता या वृद्धावस्था में कर सकते हैं। इसमें नियंत्रित श्वास के साथ-साथ सुरक्षित, धीमी और नियंत्रित शारीरिक गतिविधि की भी आवश्यकता होती है। वयस्कों और बच्चों की तुलना में वयस्कों को उम्र के साथ सबसे अधिक समस्या होती है। योग करने से शरीर में शांति का स्तर बढ़ता है, जिससे हममें आत्मविश्वास भी जागृत होता है।

दैनिक जीवन में योग से लाभ - Benefits of yoga in daily life

योग प्राचीन काल से मनुष्य को प्रकृति द्वारा दिया गया एक बहुत ही महत्वपूर्ण और अनमोल उपहार है, जो मनुष्य को जीवन भर प्रकृति से जोड़े रखता है। शरीर और मन के बीच सामंजस्य बनाने के लिए दोनों को मिलाना सबसे अच्छा अभ्यास है। यह एक व्यक्ति को शारीरिक, मानसिक, सामाजिक और बौद्धिक स्तरों जैसे सभी आयामों पर नियंत्रित करके उच्च स्तर की संवेदनशीलता प्रदान करता है। छात्रों की बेहतरी के साथ-साथ पढ़ाई में उनकी एकाग्रता को बढ़ाने के लिए स्कूल और कॉलेज में योग के दैनिक अभ्यास को बढ़ावा दिया जाता है। यह पूरे शरीर में मौजूद सभी विभिन्न प्राकृतिक तत्वों के अस्तित्व को नियंत्रित करके व्यक्तित्व को बेहतर बनाने के लिए लोगों द्वारा किया गया व्यवस्थित प्रयास है।

दैनिक जीवन में योग - Yoga in daily life

योग के सभी आसनों के लाभों को प्राप्त करने के लिए सुरक्षित और नियमित अभ्यास की आवश्यकता है। योग का अभ्यास आंतरिक ऊर्जा को नियंत्रित करके शरीर और मन में आत्म-विकास के माध्यम से आध्यात्मिक प्रगति करना है। योग के दौरान सांस लेना और ऑक्सीजन छोड़ना सांस लेने की प्रक्रिया में सबसे महत्वपूर्ण चीज है। दैनिक जीवन में योगाभ्यास करने से हम अनेक रोगों के साथ-साथ कैंसर, मधुमेह, उच्च व निम्न रक्तचाप, हृदय रोग, गुर्दे की विफलता, लीवर खराब होना, गले में खराश जैसी कई भयानक बीमारियों से भी बच जाते हैं। यह हमें समस्याओं और कई अन्य मानसिक रोगों से भी बचाता है।

स्वस्थ - एक स्वस्थ व्यक्ति अपने जीवन में बहुत अधिक लाभ कमा सकता है और स्वस्थ जीवन जीने के लिए नियमित योग बहुत आवश्यक है। आज के आधुनिक जीवन में तनाव बहुत बढ़ गया है और आसपास का वातावरण भी साफ नहीं है। बड़े शहरों में रहने वाले लोगों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। बेहतर स्वास्थ्य का अर्थ है बेहतर जीवन। आप 20-30 मिनट योग करके अपने जीवन को काफी बेहतर बना सकते हैं क्योंकि सुबह उठकर योग का अभ्यास करने से कई तरह की बीमारियों से बचा जा सकता है।

विश्व योग दिवस - योग से एकाग्रता की ओर

योग बिना किसी समस्या के जीवन भर फिट रहने का सबसे अच्छा, सुरक्षित, आसान और स्वस्थ तरीका है। इसके लिए केवल शरीर की गतिविधियों का नियमित अभ्यास और सांस लेने के सही पैटर्न की आवश्यकता होती है। इसमें शरीर के तीन मुख्य तत्व होते हैं; शरीर, मन और आत्मा के बीच संपर्क को नियंत्रित करता है। यह शरीर के सभी अंगों के कामकाज को नियंत्रित करता है और शरीर और मन को कुछ खराब परिस्थितियों और अस्वास्थ्यकर जीवनशैली के कारण होने वाली परेशानियों से बचाता है। यह स्वास्थ्य, ज्ञान और आंतरिक शांति बनाए रखने में मदद करता है। अच्छा स्वास्थ्य प्रदान करके यह हमारी शारीरिक आवश्यकताओं को पूरा करता है, ज्ञान के माध्यम से यह मानसिक आवश्यकताओं को पूरा करता है और आंतरिक शांति के माध्यम से आध्यात्मिक आवश्यकताओं को पूरा करता है, इस प्रकार हम सभी के बीच सद्भाव बनाए रखता है। भी मदद करता है।

योग से एकाग्रता की ओर - From yoga to concentration

सुबह योग का नियमित अभ्यास हमें अनगिनत शारीरिक और मानसिक बीमारियों से बचाने का काम करता है। योग के विभिन्न आसन मानसिक और शारीरिक शक्ति के साथ-साथ कल्याण की भावना भी पैदा करते हैं। यह मानव मस्तिष्क को तेज करता है, बौद्धिक स्तर में सुधार करता है और भावनाओं को स्थिर रखकर उच्च स्तर की एकाग्रता में मदद करता है। अच्छाई की भावना मनुष्य में मदद की प्रकृति बनाती है और इस प्रकार, सामाजिक भलाई को बढ़ावा देती है। एकाग्रता के स्तर में सुधार ध्यान में मदद करता है और मन को आंतरिक शांति प्रदान करता है। योग दर्शन का प्रयोग किया जाता है, जो नियमित अभ्यास के माध्यम से आत्म-अनुशासन और आत्म-जागरूकता विकसित करता है।

विश्व योग दिवस - World yoga day

योग का अभ्यास कोई भी कर सकता है, चाहे वह किसी भी उम्र, धर्म या स्वस्थ परिस्थितियों में हो। यह अनुशासन और शक्ति की भावना में सुधार करता है और साथ ही बिना किसी शारीरिक और मानसिक समस्या के स्वस्थ जीवन जीने का अवसर प्रदान करता है। पूरी दुनिया में इसके बारे में जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूनाइटेड एसोसिएशन की आम बैठक में 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस घोषित करने का सुझाव दिया था, ताकि हर कोई योग के बारे में सीख सके. आगे बढ़ें और इसका लाभ उठाएं। योग एक प्राचीन भारतीय परंपरा है, जिसकी उत्पत्ति भारत में हुई और योगियों द्वारा फिट रहने और ध्यान करने के लिए इसका लगातार अभ्यास किया जाता है। निकट जीवन में योग का उपयोग करने के लाभों को देखते हुए, यूनाइटेड एसोसिएशन की सभा ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस या विश्व योग दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की है।

योग के प्रकार - Types of Yoga

योग कई प्रकार के होते हैं जैसे राज योग, कर्म योग, ज्ञान योग, भक्ति योग और हठ योग। लेकिन जब ज्यादातर लोग भारत या विदेश में योग के बारे में बात करते हैं, तो उनका मतलब आमतौर पर हठ योग से होता है, जिसमें ताड़ासन, धनुषासन, भुजंगासन, कपालभाति और अनुलोम-विलोम जैसे कुछ व्यायाम शामिल होते हैं। योग पूरक या वैकल्पिक चिकित्सा की एक महत्वपूर्ण प्रणाली है।

कुछ लोगों को अपने शरीर को झुकाने या झुकने या अपने पैर की उंगलियों को छूने में कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। एक बार जब कोई व्यक्ति नियमित रूप से योग करना शुरू कर देता है, तो उसे जल्द ही इसका प्रभाव महसूस होने लगता है। यह जोड़ों के दर्द से राहत दिलाने में भी मदद करता है, जो कि ज्यादातर उम्रदराज लोगों में आम है। यह प्राकृतिक तरीकों से लोगों को बीमारियों से भी छुटकारा दिलाता है, जिससे मनुष्य अपने शरीर में काफी लचीलापन और फुर्ती महसूस करता है।

उपसंहार

हम योग के लाभों की गणना नहीं कर सकते, हम इसे केवल एक चमत्कार के रूप में समझ सकते हैं, जिसे भगवान ने मानव प्रजाति को उपहार के रूप में दिया है। यह हमारी शारीरिक फिटनेस को बनाए रखता है, तनाव को कम करता है, भावनाओं को नियंत्रण में रखते हुए नकारात्मक विचारों को नियंत्रित करता है। जिससे हम कल्याण, मानसिक शुद्धता और आत्म-विश्वास की भावना का विकास करते हैं। योग के अनगिनत लाभ हैं, हम कह सकते हैं कि योग मानवता को दिया गया एक दिव्य उपहार है।



Comments


Leave a Reply

Scroll to Top