Sinhasan-Battisi ArunGovil Sinhasan-Battisi Blog Improve Your Sinhasan-Battisi Knowledge.

Singhasan_battis_karunavati.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की 24वीं कहानी: करुणावती पुतली की कथा- Karunavati Putli ki katha

जैसे ही राजभोज सिंहासन पर बैठने के लिए आगे बढ़ा, 24वें शिष्य करुणावती ने उसे रोक लिया। 24वें शिष्य ने कहा कि यह सिंहासन तुम्हारे लिए नहीं है।

13/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan_battsi_dharmavati_putli.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की 23वीं कहानी: धर्मवती पुतली की कथा - Dharmavati Putli ki katha

जब राजभोज एक बार फिर सिंहासन पर बैठा, तो 23वीं शिष्य धर्मावती वहां आई। उसने राजाभोज से कहा कि तुम इस सिंहासन पर बैठने के योग्य नहीं हो।

13/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
Singhasan_battsi_anourodvati.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की 22वीं कहानी: अनुरोधवती पुतली की कथा - Anarchavati Putli ki katha

राजा भोज एक बार फिर सिंहासन की ओर बढ़े और तभी 22वें शिष्य प्रकाशवती वहां आ गईं। उसने राजाभोज से कहा कि मैं आपको राजा विक्रमादित्य की एक कहानी सुनाऊंगी ?

13/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan_battsi_taramati_katha.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की अठारहवीं कहानी: तारामती पुतली की कथा - Taramati Putli ki katha

राजा भोज 18वीं बार फिर से सिंहासन पर बैठने के लिए आगे बढ़े। उसने सोचा कि इस बार चाहे कुछ भी हो जाए, वह सिंहासन पर विराजमान ही रहेगा।

05/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan_battsi_vidyavati_putli.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की सत्रहवीं कहानी: विद्यावती पुतली की कथा - Vidyavati Putli ki katha

राजा भोज एक बार फिर राजगद्दी पर बैठने की इच्छा से महल में पहुंचे। इस बार 17वीं कन्या विद्यावती ने सिंहासन से उतरकर राजा भोज को गद्दी पर बैठने से रोक दिया।

13/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan_putli_Vaidehi_Story.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की 28वीं कहानी: वैदेही पुतली की कथा - Vaidehi Putli ki khata

लगातार 27 पुतलों से राजा विक्रमादित्य की महानता की कहानी सुनकर परेशान होकर राजा भोज ने एक बार फिर सिंहासन पर बैठने की कोशिश की

05/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan_battsi_mrignani.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की छब्बीसवीं कहानी: मृगनयनी पुतली की कथा - Mrignayani Putli ki katha

पांचवें शिष्य के माध्यम से विक्रमादित्य के गुणों को जानकर राज भोज महाराज प्रसन्न हुए और उस स्थान से अपने महल के लिए रवाना हो गए।

13/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan_battsi_kosuliya.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की 31वीं कहानी: कौशल्या पुतली की कथा - Kaushalya Putli ki katha

जब राजा भोज 30 बार असफल होने के बाद एक बार फिर सिंहासन पर चढ़ने की कोशिश करते हैं, तो कौशल्या का 31 वां पुतला वहां प्रकट होता है।

13/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan_battsi_gyanbati_putli.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की बीसवीं कहानी: ज्ञानवती पुतली की कथा - Gyanvati Putli ki katha

उन्नीसवें शिष्य की कहानी सुनने के बाद, राजा भोज अगले दिन फिर से सिंहासन पर आते हैं, जब उनतीसवें शिष्य ज्ञानवती प्रकट होते हैं और उन्हें रोकते हैं

05/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan_battis_maliyawati.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की सताइसवीं कहानी: मलयवती पुतली की कथा - Malayvati Putli ki katha

राजा भोज की इच्छा थी कि वह किसी भी तरह से महाराजा विक्रमादित्य के सिंहासन पर विराजमान हो, लेकिन हर बार सिंहासन से चिपके पुतले ने उसे रोक दिया

11/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan_battsi_jailaxmi.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की 30वीं कहानी: जयलक्ष्मी पुतली की कथा - Jayalakshmi Putli ki katha

अलग-अलग पुतलों को सुनकर थककर राजा भोज 30वीं बार साहसपूर्वक सिंहासन पर बैठने के लिए जाता है, लेकिन इस बार 30वीं पुतली जयलक्ष्मी उसे रोक लेती है

11/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan_battis_chadrajoyti.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की इक्कीसवीं कहानी: चन्द्रज्योति पुतली की कथा - Chandrajyoti Putli ki katha

इस बार भी राजा भोज सिंहासन पर बैठने के लिए आगे बढ़ते हैं और तभी वहां चंद्रज्योति का इक्कीसवां शिष्य प्रकट होता है

11/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan_battsi_trientri_katha.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की पच्चीसवीं कहानी: त्रिनेत्री पुतली की कथा - Trimurti putli ki katha

महाराजा विक्रमादित्य की कहानी के माध्यम से लगभग चौबीस विद्यार्थियों ने राजा भोज को चौबीस गुणों के बारे में एक-एक करके बताया था, जिसे जानकर वे बहुत खुश हुए।

11/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan_battsi_rooprekha_puttli.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की उन्नीसवी कहानी: रूपरेखा पुतली की कथा - Outline Putli ki katha

हर बार की तरह इस बार भी राज भोज फिर से सिंहासन पर बैठने के लिए आगे बढ़ता है, लेकिन तभी सिंहासन का उन्नीसवां पुतला उसे रोकता है और राजा विक्रमादित्य के गुणों की चर्चा करते हुए एक कहानी बताता है।

08/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan_battsi_lilavati_puttli.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की पांचवीं कहानी: लीलावती पुतली की कथा - Lilavati Putli ki katha

हर बार की तरह, पांचवें दिन फिर से राजा भोज उत्सुकता से सिंहासन पर बैठने के लिए आगे बढ़े। जैसे ही उसने सिंहासन की ओर कदम बढ़ाया, उसमें से पाँचवाँ पुतला निकला और उसका नाम लीलावती रखा।

07/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan_puttli_prabhavati.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की कहानी: प्रभावती पुतली की कथा - Prabhavati Putli ki katha

दसवें दिन फिर राजा भोज राजगद्दी पर बैठने के लिए दरबार में पहुंचे, जब दसवीं शिष्य प्रभावती ने सिंहासन से बाहर आकर उन्हें वहां बैठने से रोक दिया। प्रभावती ने कहा कि पहले तुम राजा विक्रमादित्य की दया कथा सुन लो।

07/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
kamkandala.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी कीकहानी: कामकंदला पुतली की कथा

एक बार फिर राजा भोज गद्दी पर बैठने के लिए आते हैं। इस बार वह चौथे शिष्य को रोकता है और राजा विक्रमादित्य के दान और बलिदान की कहानी सुनाने लगता है।

07/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan1.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन की कहानी: मधुमालती पुतली की कथा - Story of Madhumalati Putli

नौवें दिन राजा भोज दरबार में पहुंचे और विक्रमादित्य के सिंहासन पर विराजमान हुए। इस बार उन्हें नौवीं बेटी ने गद्दी पर बैठने से रोक दिया। उन्होंने कहा, "आपको यहां बैठने के लिए राजा विक्रमादित्य की तरह बनना होगा।" यह कहकर वह विक्रमादित्य के गुणों को बताने के लिए कहानी सुनाने लगी।

07/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की कहानी: सुनयना पुतली की कथा - The Story of Sunayana Putli

शिष्य कीर्तिमती की कहानी सुनकर राजा भोज ने कुछ देर सोचा और फिर वापस सिंहासन पर बैठने के लिए उत्सुक हो गए। फिर उन्होंने चौदहवें शिष्य को लिया जिसका नाम सुनयना था।

07/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
shihasan_battsi_putli1.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की कहानी पद्मावती पुतली की कथा - Story of Padmavati Putli

विक्रमादित्य की खूबियों के बारे में बताने के लिए इस बार बारहवीं पुतली सिंहासन से निकलती है। वह राजाभोज को राजा विक्रमादित्य और एक राक्षस की कहानी सुनाती है।

07/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
singhasan_sundarvati.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की कहानी: सुंदरवती पुतली की कथा - Story of Sundervati Putl

जब राजा भोज फिर से सिंहासन पर चढ़ने लगे, तो पंद्रहवीं शिष्य सुंदरवती ने उन्हें रोक दिया। उन्होंने पूछा कि क्या आपके पास महाराज विक्रमादित्य के समान लोक प्रेमी हैं? यह कह कर पंद्रहवीं की शिष्या एक किस्सा सुनाने लगी।

07/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
sinhaasan_ranjanjtali.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की कहानी: रत्नमंजरी पुतली की कथा - the story of Ratnamanjari Putli

राजगद्दी की मंजूरी के पहले ही दिन राजा भोज सिंहासन पर बैठने के लिए उत्सुक थे। जब राजा भोज ने पहले दिन सिंहासन पर बैठने का प्रयास किया, तभी सिंहासन से रत्नमंजरी का पहला पुतला प्रकट हुआ।

07/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
sinhasan_ravibhama_pulti.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की कहानी: रविभामा पुतली की कथा - Story of Ravibhama Putli

पांचवें शिष्य से महाराजा विक्रमादित्य की कहानी सुनकर जैसे ही राजा भोज सिंहासन पर बैठे, उन्हें छठे शिष्य रविभामा ने रोक दिया। उसने राजा से पूछा कि क्या वह वास्तव में इस सिंहासन पर बैठने के योग्य है।

05/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net
shihasan_battsi_putli.jpg
Sinhasan-Battisi

सिंहासन बत्तीसी की ग्यारहवीं कहानी: त्रिलोचनी पुतली की कथा - The Story of Trilochani Putli

हर बार की तरह इस बार भी राजा भोज राजगद्दी पर बैठने के लिए दरबार में पहुंचे। इस बार सिंहासन के ग्यारहवें पुतले त्रिलोचन ने उन्हें रोक दिया। फिर वह राजा विक्रमादित्य के गुणों के बारे में बताने के लिए महायज्ञ का एक किस्सा सुनाने लगती है।

05/01/2022 by योगेश शर्मा ArunGovil.net

Scroll to Top