akbar-birbal

अकबर बीरबल की कहानी: अकबर का तोता - Akbar ka Tota

akbar_ka_tota.jpg

एक बार अकबर बाजार के भ्रमण पर निकला था। वहाँ उसे एक तोता दिखा, जो बहुत प्यारा था। उसे उसके गुरु ने उसे बहुत सी अच्छी बातें सिखाई थीं। यह देखकर अकबर बहुत खुश हुआ। उसने उस तोते को खरीदने का फैसला किया। तोता खरीदने के एवज में अकबर ने मालिक को अच्छी कीमत दी। वह उस तोते को महल में ले आया। तोते को यहां लाने के बाद अकबर ने इसे बहुत अच्छे से रखने का फैसला किया।

अब जब भी अकबर उससे कुछ भी पूछता तो वह तुरंत उस बात का जवाब दे देता। अकबर बहुत खुश हुआ करता था। दिन-ब-दिन वह तोता उसे अपनी जान से भी प्यारा होता जा रहा था। उसने महल में अपने ठहरने की शाही व्यवस्था करने का आदेश दिया। उसने अपने सेवकों से कहा, 'इस तोते का विशेष ध्यान रखना चाहिए। तोते को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होनी चाहिए।

उन्होंने यह भी कहा, 'यह तोता किसी भी हाल में मरना नहीं चाहिए। अगर कोई उसे तोते की मौत की सूचना देता है तो वह उसे फांसी पर लटका देगा। तोते के महल में रहने का खास ख्याल रखा गया। फिर एक दिन अचानक अकबर का प्यारा तोता मर गया।

अब महल के नौकरों में यह हलचल मच गई कि आखिर यह अकबर को कौन बताएगा, क्योंकि अकबर ने कहा था कि जो कोई उसे तोते की मौत की खबर देगा, वह उसकी जान ले लेगा। अब नौकर चिंतित थे। बहुत विचार-विमर्श के बाद उन्होंने फैसला किया कि यह बात बीरबल को बताई जानी चाहिए। सबने बीरबल को सारी बात बता दी। यह भी बताया गया था कि जो भी मौत की खबर देगा उसे बादशाह अकबर मौत की सजा देगा। यह सुनकर बीरबल बादशाह अकबर को यह खबर बताने के लिए तैयार हो गए। वह अकबर को इसकी सूचना देने महल में गया।

बीरबल अकबर के पास गए और कहा, 'महाराज, एक दुखद समाचार है।' अकबर ने पूछा - 'बताओ क्या हुआ?' बीरबल ने कहा महाराज आपका प्यारा तोता न कुछ बोलता है, न अपनी आँखें खोलता है, न कोई हरकत ही करता है….. अकबर ने क्रोधित होकर कहा, '... तुम सीधे यह क्यों नहीं कहते कि वह मर चुका है।' बीरबल ने कहा, 'हां महाराज , लेकिन ये बात मैंने नहीं आपने कही है। इसलिए, मेरी जान बख्श दो।' अकबर भी कुछ न कह सका। इस तरह बीरबल ने बड़ी सूझबूझ से अपनी और अपने सेवकों की जान बचाई।

अकबर का तोता कहानी से सीख

मुश्किल समय में घबराना नहीं चाहिए बल्कि समझदारी से काम लेना चाहिए। दिमाग से किसी भी समस्या का समाधान निकाला जा सकता है।



Comments


Leave a Reply

Scroll to Top