full-form

बीएससी का फुल फॉर्म हिंदी में - BSc full form in Hindi

bsc_full_form.jpg

B.Sc: BACHELOR OF SCIENCE

क्या आप जानते हैं कि बीएससी का फुल फॉर्म क्या होता है? यदि नहीं तो आज का यह लेख आपके लिए बहुत ही ज्ञानवर्धक होने वाला है। आज जब 12वीं के बाद पढ़ाई के लिए कोर्स चुनने की बात आती है तो आधे से ज्यादा छात्र इंजीनियरिंग या एमबीबीएस करते हैं। इन दोनों पाठ्यक्रमों में हाल के वर्षों में जबरदस्त वृद्धि देखी गई है। अच्छे कॉलेजों में सीमित सीटों के साथ कड़ी प्रतिस्पर्धा और आवेदकों की बढ़ती संख्या ने भी भारत के शीर्ष इंजीनियरिंग कॉलेजों में वृद्धि देखी है।

कई छात्र एक औसत कॉलेज में इंजीनियरिंग या एमबीबीएस करने के बजाय एक अच्छे विश्वविद्यालय से बीएससी पाठ्यक्रम का विकल्प चुनते हैं। छात्र बीएससी डिग्री के बाद करियर की संभावनाओं से अनजान हैं और उनमें से कई को लगता है कि पाठ्यक्रम में कुछ भी नहीं है। इन भ्रांतियों के कारण ही हाल के दिनों में पाठ्यक्रम की छवि खराब हुई है। तो बिना देर किए चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं बीएससी का फुल फॉर्म हिंदी में (B.Sc full form in Hindi)।

बीएससी का पूरा नाम क्या है - What is the full name of B.Sc

बीएससी का फुल फॉर्म बैचलर ऑफ साइंस (BACHELOR OF SCIENCE) होता है। यह विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में तीन साल के पाठ्यक्रम को पूरा करने के लिए प्रदान की जाने वाली एक स्नातक शैक्षणिक डिग्री है।

यह 12वीं कक्षा की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद विज्ञान के छात्रों के बीच एक लोकप्रिय शैक्षणिक डिग्री पाठ्यक्रम है। इस कोर्स की अवधि अलग-अलग देशों में अलग-अलग हो सकती है। यह भारत में तीन साल का और अर्जेंटीना में पांच साल का कोर्स है।

बाकी संक्षिप्त नाम की तरह, बैचलर ऑफ साइंस (BACHELOR OF SCIENCE) का संक्षिप्त रूप या संक्षिप्त नाम बीएससी (B.Sc) है। B.Sc डिग्री अक्सर विज्ञान के छात्रों द्वारा अधिक की जाती है।

बीएससी (B.SC) की पढ़ाई के लाभ - Benefits of studying BSc

आइए अब जानते हैं कि बीएससी की पढ़ाई करने से आपको क्या-क्या फायदे मिलते हैं।

बीएससी छात्रों के लिए आकर्षक छात्रवृत्ति - Attractive Scholarships for B.Sc Students

पाठ्यक्रमों के लिए बी.एससी (B.Sc) चयनित छात्रों को सरकारी छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। इन स्कॉलरशिप के भत्तों में आकर्षक ऑफर शामिल हैं, जैसे कि पूरा अध्ययन खर्च, जिसका सामना छात्र को पढ़ाई के दौरान करना पड़ता है। इनमें से कुछ छात्रवृत्तियां, एम.एस.सी (M.Sc) यदि छात्र उच्च शिक्षा के लिए इसे चुनने का फैसला करता है तो यह संबंधित खर्चों को भी कवर करता है।

अनुसंधान और विकास क्षेत्रों में रोजगार के अवसर - Employment Opportunities in Research and Development Sectors

बीएससी में डिग्री हासिल करने का सबसे अच्छा फायदा, अनुसंधान और विकास के क्षेत्र में रोजगार के बेहतरीन अवसर प्राप्त होते हैं। भारत में अनुसंधान और विकास क्षेत्र को मजबूत करना सरकार द्वारा B.Sc. को इस तरह की आकर्षक छात्रवृत्ति प्रदान करने के प्रमुख कारणों में से एक है। एक विज्ञान के छात्र के वैज्ञानिक बनने से बेहतर करियर और क्या हो सकता है? और सरकार अनुसंधान और विकास क्षेत्र के छात्रों के विकास में गहरी दिलचस्पी ले रही है। और यह आश्वासन भी देती है, कि उनका इस क्षेत्र में एक आशाजनक और पुरस्कृत करियर होगा।

किसी भी अन्य शैक्षणिक पाठ्यक्रम की तरह, बीएससी (B.Sc) स्नातकों के लिए भी रोजगार के उत्कृष्ट अवसर हैं। बीएससी (B.Sc) के छात्र केवल विज्ञान से संबंधित नौकरियों के क्षेत्र तक ही सीमित नहीं हैं और उनके पास प्रबंधन, इंजीनियरिंग, कानून आदि जैसे अन्य क्षेत्रों में अपना भविष्य बनाने के अवसर भी मौजूद हैं। 

बीएससी (B.Sc) स्नातकों के लिए रोजगार क्षेत्र - Employment Sectors for B.Sc Graduates

बीएससी (B.Sc) स्नातकों के लिए कुछ लोकप्रिय रोजगार क्षेत्र इस प्रकार हैं -

  • शैक्षणिक संस्थान (Educational Institutes)
  • अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (Space Research Institutes)
  • अस्पताल (Hospitals)
  • स्वास्थ्य देखभाल करने वाले  (Health Care Providers)
  • फार्मास्यूटिकल्स और जैव प्रौद्योगिकी उद्योग  (Pharmaceuticals and Biotechnology Industry)
  • रासायनिक उद्योग  (Chemical Industry)
  • पर्यावरण प्रबंधन और संरक्षण  (Environmental Management and Conservation)
  • फोरेंसिक अपराध अनुसंधान  (Forensic Crime Research)
  • भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण विभाग  (Geological Survey Departments)
  • अपशिष्ट जल संयंत्र  (Wastewater Plants)
  • अनुसंधान फर्म  (Research Firms)
  • परीक्षण प्रयोगशालाएं  (Testing Laboratories)
  • वन सेवाएं (Forest Services)
  • तेल उद्योग  (Oil Industry)

अगर आपको यह पोस्ट बीएससी का फुल फॉर्म हिंदी में (B.Sc full form in Hindi ) पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तो कृपया इस पोस्ट को सोशल नेटवर्क जैसे - Facebook, Twitter और अन्य सोशल मीडिया साइट्स पर शेयर करें। धन्यबाद ।



Comments


Leave a Reply

Scroll to Top