full-form

आरटीआई का फुल फॉर्म हिंदी में - RTI FULL FORM IN HINDI

rti_full_form.jpg

RTI: RIGHT TO INFORMATION

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि आप सरकार या किसी भी सरकारी विभाग से उनके काम का विवरण मांग सकते हैं, हाँ बहुत से लोग अभी भी इस जानकारी से वंचित हैं, यह सब RTI के माध्यम से संभव है, आज हम जानेंगे कि RTI क्या है? RTI का फुल फॉर्म हिंदी में (RTI full form in hindi) और कैसे आप RTI आवेदन फॉर्म भर सकते हैं। आइए जानते हैं विस्तार से-

दोस्तों RTI का फुल फॉर्म होता है RIGHT TO INFORMATION. जिसका मतलब होता है सूचना का अधिकार। RTI सरकार का एक अधिनियम है, जिसके अनुसार भारत के प्रत्येक नागरिक को सूचना का अधिकार है। 15 जून 2005 को संसद द्वारा RTI अधिनियम पारित किया गया था। जिसे मूल रूप से 12 अक्टूबर 2005 को लागू किया गया था।

सूचना का अधिकार एक ऐसा अधिकार है जिसके माध्यम से आप सरकारी कार्य या सरकार से संबंधित किसी भी सरकारी योजना का निरीक्षण कर सकते हैं, जैसे कि राशन की दुकान में कितना राशन आया, सड़क निर्माण में कितना खर्च हुआ, कॉलेज की उत्तर पुस्तिका की जांच आदि।

आरटीआई लाने का मुख्य उद्देश्य - The main objective of bringing RTI

  • दिन-प्रतिदिन बढ़ते भ्रष्टाचार के कारण लोगों का सरकारी तंत्र से विश्वास उठ रहा था। क्योंकि भारत एक लोकतांत्रिक देश है और हमें यह जानने का अधिकार है कि हमारे द्वारा चुनी गई सरकार कैसे काम करती है।
  • इसलिए सरकार द्वारा 2005 में RTI Act लाया गया, जिससे हमारे लोकतंत्र को काफी हद तक मजबूती मिली है, आप सरकार से किसी भी सरकारी योजना के बारे में जानकारी ले सकते हैं।
  • भारत के जम्मू और कश्मीर राज्यों को छोड़कर पूरे भारत में आरटीआई अधिनियम लागू किया गया है।

RTI लाने के फायदे - Benefits of bringing RTI

  • भारत का प्रत्येक नागरिक किसी भी सरकारी विभाग से कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकता है।
  • आरटीआई अधिनियम ने सरकार के कामकाज में पारदर्शिता लाई है।
  • आरटीआई एक्ट के जरिए अगर कोई सरकारी काम में देरी हुई है या आपके साथ धोखा हुआ है तो आप उसे सबूत के तौर पर पेश कर सकते हैं।
  • यह कुछ हद तक भ्रष्टाचार को रोकने में मददगार है।

RTI के लिए आवेदन कैसे कर सकते हैं - How to apply for RTI

भारत का हर नागरिक RTI के लिए आवेदन कर सकता है। वह जिस भी सरकारी विभाग में सूचना प्राप्त करना चाहता है, उसी विभाग के जन सूचना अधिकारी के नाम से उसे एक आवेदन पत्र लिखना होता है।

आप आवेदन को सरल भाषा में लिख सकते हैं और अपने प्रश्न पूछ सकते हैं, आप हिंदी, अंग्रेजी या अपनी स्थानीय भाषा में भी लिख सकते हैं। यदि कोई अधिकारी आपको जानकारी देने से इंकार करता है या जानबूझकर देरी करता है, तो आप उस अधिकारी पर मुकदमा कर सकते हैं। 

आरटीआई नमूना आवेदन पत्र  हिंदी में - RTI Sample Application Form in Hindi

आरटीआई नमूना आवेदन पत्र  पीडीएफ डाउनलोड करने लिए यहाँ क्लिक करें RTI PDF SAMPLE । 

सेवा में,

केन्द्रीय / जनसूचना अधिकारी
विभाग का नाम………….

विषय – RTI Act 2005 के अंतर्गत ……………… से संबधित सूचनाऐं।

प्रिय सर/ मैडम ,

मैं भारत का एक नागरिक हूँ | कृपया मुझे मेरे पते पर नीचे पूछे हुए सुचना की प्रमाणित प्रतियां प्रदान करे |

आप अपने सवाल यहाँ लिखें।

1-…………………………
2-………………………….
3-…………………………
4-…………………………

मैं आवेदन के लिए फीस के रूप में 10रू का पोस्टलऑर्डर …… संख्या अलग से आपको जमा कर रहा /रही हूं।
 
यदि मेरी मांगी गई सूचना आपके कार्यालय/विभाग से सम्बंधित नहीं है, तो RTI अधिनियम,2005 की धारा 6 (3) का संज्ञान लेते हुए मेरा आवेदन को सम्बंधित लोकसूचना अधिकारी को पांच दिनों के अन्तर्गत हस्तान्तरित करें दे ।

साथ ही RTI ACT के प्रावधानों के तहत सूचना उपलब्ध् कराते वक़्त प्रथम अपील अधिकारी का नाम व पता हमे अवश्य बतायें।

नाम :……………
पता :………………
फोन नं :……………
हस्ताक्षर :……………

आप ऊपर दी गई जानकारी से अपना आवेदन फॉर्म तैयार कर सकते हैं, अगर फिर भी आपको कोई समस्या है तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं। और आपको जानकारी अच्छी लगी हो तो इस लेख को अपने दोस्तों के साथ सोसल मीडिया जैसे - पर शेयर करें। धन्यबाद। 



Comments

default_image

vikas chaudhary 13/06/2021

arungovil.net is best website/blog to increase religious knowledge in hindi.


Leave a Reply

Scroll to Top