health-tips

पालक के फायदे और नुकसान - Spinach benefits and side effects in Hindi

spinach.jpg

हर डॉक्टर द्वारा आपको हरी पत्तेदार सब्जियां खाने की सलाह दी जाती है। हरी सब्जियों में सभी पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में होते हैं। पालक को सबसे पहले हरी सब्जी के रूप में याद किया जाता है। पालक स्वाद के अलावा सेहत के लिए भी बहुत अच्छा होता है। पालक ज्यादातर ठंड के मौसम में आता है और सर्दियों में इसे खाने के फायदे भी कई हैं. वैसे तो आजकल सभी सब्जियां 12 महीने तक मिल जाती हैं, लेकिन बरसात के मौसम में जो पालक आता है उसमें मिट्टी और कीटाणुओं की भरमार होती है, इसलिए इस मौसम में इसे नहीं खाना चाहिए। एनीमिया होने पर लोग सबसे पहले पालक खाने की सलाह देते हैं, इससे शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ता है। पालक को हमेशा साफ पानी से 2-3 बार अच्छी तरह धोकर खा लें। पालक को सलाद और सब्जी के रूप में खाया जाता है। पालक के पकोड़े भी बहुत स्वादिष्ट लगते हैं। 

पालक में मौजूद पोषक तत्वों के बारे में जानकारी - Information about the nutrients present in spinach

पालक में मौजूद पोषक तत्व ( प्रति 100 ग्राम में)
क्रमांक पोषक तत्व     मात्रा
1 कैलोरी 23
2 प्रोटीन 2%
3 कार्बोहाइड्रेट 2.9%
4 वसा 0.7%
5 रेशा 0.6%
6 खनिज 0.7%
7 सोडियम 3%
8 पोटेशियम 15%
9 विटामिन A 187%
10 विटामिन C 46%
11 कैल्शियम 9%
12 आयरन 15%
13 मैग्नीशियम 19%

पालक खाने के फायदे और नुकसान - Advantages and disadvantages of eating spinach

पालक में मौजूद खनिज शरीर के पीएच स्तर को नियंत्रित करने में सहायक होते हैं। पालक में भी प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है, मांस में जितना प्रोटीन मिलेगा उतना ही पालक खाने से मिलेगा। जो लोग उच्च प्रोटीन खाते हैं उन्हें अपने आहार में पालक को शामिल करना चाहिए। पालक का सूप भी बनाकर पिया जाता है। पालक में गाजर और पत्ता गोभी से दोगुना आयरन होता है। पालक को पकाने और खाने से इसके कई पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं, इसलिए इसे साफ करके धोकर सलाद या सूप के रूप में लेने की सलाह दी जाती है।

पालक का जूस पीने के फायदे - Benefits of drinking spinach juice

  1. पालक में मैग्नीशियम, विटामिन और फाइबर होता है, जो कैंसर रोग के कीटाणुओं को शरीर में प्रवेश करने से रोकता है, और रोगों से लड़ने में भी सहायक होता है।
  2. पालक खाने से हार्ट अटैक या फिर दिल से जुड़ी सभी बीमारियों को दूर किया जा सकता है।
  3. जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं, उन्हें पालक जरूर खाना चाहिए, क्योंकि इसमें कैलोरी भी कम होती है, साथ ही प्रोटीन भी अधिक होता है, जो फायदेमंद होता है।
  4. इसे खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है।
  5. पालक खाने से शरीर में खून बढ़ता है जिससे एनीमिया नहीं होता है।
  6. पालक खाने से गठिया में आराम मिलता है।
  7. इसमें विटामिन सी भी होता है, जो ब्लीडिंग की समस्या को दूर करता है।
  8. पालक खाने से आंखों की रोशनी तो बढ़ती ही है साथ ही रतौंधी की समस्या भी दूर होती है।
  9. पालक में फाइबर भी होता है, जिससे पेट की समस्या, अल्सर, अपच, कब्ज, एसिडिटी दूर होती है।
  10. पालक में विटामिन K भी होता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाने में सहायक होता है। इससे हड्डियां मजबूत होती हैं और शरीर में कैल्शियम की कमी दूर होती है।
  11. पालक खाने से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या दूर होती है।
  12. गर्भवती महिला के लिए पालक किसी वरदान से कम नहीं है। इसमें वे सभी पोषक तत्व होते हैं, जो गर्भवती महिला के शरीर के लिए जरूरी होते हैं। इसके अलावा यह मां के शरीर में दूध को भी बढ़ाता है।
  13. पालक खाने से त्वचा स्वस्थ रहती है।
  14. उम्र के साथ पालक खाने से चेहरे की झुर्रियां, मुंहासे, दाग धब्बे दूर हो जाते हैं।
  15. रोजाना पालक का जूस पीने से चेहरे पर ग्लो आता है, साथ ही यह त्वचा को हाइड्रेट भी रखता है।
  16. पालक का जूस या मलाई का प्रयोग करने की बजाय रोजाना पीना चाहिए।
  17. बाल आपकी खूबसूरती का अहम हिस्सा होते हैं, बालों में खुजली होना एक आम समस्या है, ऐसा सबके सामने करने पर शर्मिंदगी उठानी पड़ती है। बालों को मजबूत और घना बनाने के लिए हेयर टॉनिक या केमिकल युक्त शैंपू का इस्तेमाल न करें। इसके बजाय, हर दिन पालक का सूप पिएं। पालक में विटामिन बी कॉम्प्लेक्स भी होता है, जो बालों की समस्याओं को दूर करता है।
  18. पालक खाने से दिमाग भी मजबूत होता है, साथ ही याददाश्त भी बढ़ती है।

पालक जहां फायदेमंद होता है वहीं इसके कुछ नुकसान भी होते हैं। अधिक सेवन करने से यह शरीर को लाभ के स्थान पर हानि पहुँचाने लगता है। इसके बारे में भी हम आपको बताते हैं।

पालक खाने के नुक्सान - Side effects of eating spinach

  1. पालक की अधिकता हमारे शरीर की खनिजों को अवशोषित करने की क्षमता को प्रभावित करती है। शरीर में इन तत्वों को पर्याप्त मात्रा में अवशोषित करने की पर्याप्त क्षमता नहीं होती है। यह हमारे सिस्टम के सामान्य कामकाज में बाधा डाल सकता है और खनिज की कमी से संबंधित विभिन्न बीमारियों को जन्म दे सकता है।
  2. पालक की अधिकता से पेट की समस्या हो सकती है। पालक में पर्याप्त मात्रा में फाइबर होता है। 1 कप सूप में 6 ग्राम फाइबर होता है। अच्छे पाचन के लिए फाइबर की आवश्यकता होती है। लेकिन इसके अधिक सेवन से पाचन तंत्र को नुकसान पहुंचता है। इससे गैस, कब्ज होता है। इस तरह की समस्या एक जगह अधिक पालक खाने से होती है, इसलिए पालक को धीरे-धीरे अपने आहार में शामिल करना चाहिए।
  3. पालक को किसी अन्य फाइबर युक्त पदार्थ के साथ खाने से शरीर में फाइबर की मात्रा बढ़ जाती है। जिससे बुखार, सिर दर्द की समस्या होने लगती है। यह दस्त का कारण भी बनता है।
  4. पालक खाने से किडनी में स्टोन की समस्या हो सकती है। पालक में मौजूद कार्बनिक पदार्थ शरीर में यूरिक एसिड में परिवर्तित हो जाते हैं। यह शरीर के लिए बहुत हानिकारक होता है। नतीजतन, गुर्दे में छोटे से मध्यम आकार के पत्थरों का निर्माण होता है।
  5. गठिया रोग में अधिक मात्रा में पालक का सेवन नहीं करना चाहिए।
  6. पालक खाने के बाद दांतों में किरकिरापन आ जाता है। इस समस्या से बचने के लिए पालक खाने के बाद ब्रश करें।
  7. पालक की अधिकता से भी किसी प्रकार की एलर्जी हो सकती है। जैसे गले में खुजली, जलन या खुजली आदि।
  8. पालक को अपने आहार में शामिल करने के लिए एक उचित आहार योजना का पालन करें, ताकि आपके शरीर को इससे लाभ हो और नुकसान न हो।


Comments


Leave a Reply

Scroll to Top